जामुन के सिरके के फायदे और नुकसान (Jamun Sirka Ke Fayde Aur Nuksan)

0
233
jamun sirka ke fayde aur nuksan
jamun sirka ke fayde aur nuksan

जामुन एक तरह का फ्रूट होता है और जामुन का सिरका (Jamun ka sirka) भी निकाला जाता है। जामुन के सिरके का प्रयोग कई तरह से किया जाता है और जामुन के सिरके के फायदे (jamun sirka ke fayde) अनगिनत है। दरअसल जामुन का पेड़ औषधीय गुणों से भरपूर होता है और इस जामुन के पत्ते भी लाभादायक होते हैं। जिसकी वजह से कई लोगों द्वारा जामुन के पत्तों का भी सेवन किया जाता है। हालांकि इस लेख में हम आपको जामुन का सिरका क्या होता, जामुन के सिरके के फायदे और नुकसान (jamun sirka ke fayde aur nuksan ), इसे बनाने की विधि बताने जा रहे हैं।

जामुन का अंग्रेजी नाम

जामुन के फल को अंग्रेजी भाषा में Java Plum कहा जाता है और ये कई देशों में पाया जाता है। जामुन का फल गर्मी के मौसम में बिकता है। इस फल के अंदर गुठली भी होती है और इसकी जामुन की गुठली भी फायदे मंद होती है।

जामुन का सिरका (Jamun ka sirka)

जामुन का फल देखने में बैंगनी रंग का होता है। इसी तरह से इसका सिरका भी बैंगनी रंग का ही होता है। जामुन का सिरका पीने से से शरीर को कई लाभ प्राप्त होते हैं। इस सिरके को आसानी से घर में बनाया जा सकता है।

जामुन के सिरके के फायदे

पाचन तंत्र को दे मजबूती

रोज जामुन का सिरका पीने से पाचन तंत्र को ताकत मिलती है और खाना अच्छे से पच जाता है। इसलिए अगर आपको खाना पचाने में दिक्कत होती है तो रोज जामुन के सिरके को पीया करें। पाचन की समस्या छूमंतर हो जाएगी और भोजन सही से पचने लग जाएगा।

शुगर नहीं बढ़े

जामुन का सिरका (Jamun ka sirka) पीने से शुगर के स्तर को भी कंट्रोल में रखा जा सकता है। शुगर होने पर आप इसको पीया करें। रोज थोड़ा सा जामुन का सिरका पीने से शुगर नहीं बढ़ेगी। इसलिए जो लोग शुगर से ग्रस्त हैं वो जामुन से दोस्ती कर लें और इसे खाया करें।

खांसी को कर दें दूर

खांसी होने पर दवाई खाने की जगह जामुन के सिरके का प्रोयग करें। जामुन का सिरका पीने से खांसी से आराम मिल जाएगा। इसके अलावा गले को सही करने में भी जामुन का सिरका (Jamun ka sirka) लाभदायक साबित होता है।

छालों से मिले आराम

जामुन के सिरके के फायदे (jamun sirka ke fayde) मुंह के संग भी हैं और इसके पीने से छालों से आराम मिल जाता है। छाले होने पर जामुन के सिरके को पी लें या इससे कुल्ला कर लें। ऐसा करने से छाले भरने लग जाएंगे।

किडनी और लीवर के लिए गुणकारी

किडनी और लीवर को स्वस्थ बनाए रखने में भी जामुन का सिरका लाभदायक माना जाता है और इसका नियमति सेवन करने से किडनी और लीवर सही से कार्य करते हैं। इसलिए अगर आप किडनी और लीवर की समस्या से परेशान हैं तो जामुन का सिरका पी लें।

उल्टी से मिले राहत

उल्टी की समस्या होने पर सिरका पी लें। सिरका पीने से मन सही हो जाएगा और उल्टी नहीं आएगी। दरअसल जामुन के सिरके में पाए जाने वाले तत्व उल्टी को रोकने में कारगर साबित होते हैं।

विटामिन सी की कमी करे दूर

विटामिन सी की कमी होने पर जामुन के सिरके का सेवन कर लें। इसे पीने से एक महीने के अंदर ही ये कमी पूरी हो जाएगी।

दस्त हों सही

जामुन के सिरके के फायदे (jamun sirka ke fayde) दस्त के संग भी जुड़े हुए हैं और इसे पीने से दस्त सही हो जाती है। दस्त होने पर थोड़ा सा सिरका पी लें। आपको आराम मिल जाएगा।

खून की कमी हो पूरी

शरीर में ब्लड की कमी होने पर जामुन का सिरका पीना फायदेमंद होता। इसे पीने से खून बनने लग जाता है, इसलिए जामुन के सिरका का प्रयोग आप खून की कमी होने के दौरान भी कर सकते हैं।

त्वचा से जुड़े जामुन के सिरके के फायदे

जामुन की मदद से चेहरे की समस्या को सही किया जा सकता है। चेहरे पर सफेद दाम होने पर जामुन के रस को लगा लें।

जामुन का सिरका बनाने की विधि

जामुन का सिरका (Jamun ka sirka) बनाने की विधि बेहद ही आसना है। जामुन का सिरका आप घर में बना सकते हैं। इसका सिरका बनाने के लिए जामुन के फल की जरूरत पड़ेगी। आप अच्छी मात्रा में जामुन ले लें। फिर इन्होंने पानी की मदद से साफ कीजिए। साफ करने के बाद जामुन को एक बर्तन में रख दें और इस बर्तन को धूप में रख दें। कुछ हफ्तों तक जामुन को तेज धूप में सूखने दें। अब पानी की मदद से इसका गूदा बना लें। इस गूदे को कपड़े में बांध दें और इसको निचौड़ दें और निचौड़ कर निकले गए पानी को बोतल में भरकर रख दें। जामुन का सिरकार बनकर तैयार है।

पतंजलि जामुन सिरका

जामुन का सिरका लाभप्रदा होता है इसलिए इसे आप जरूर पीएं। वहीं अगर आप घर में जामुन का सिरका नहीं बनना चाहते हैं तो आपको बाजार में पतंजलि का जामुन का सिरका मिल जाएगा।

जामुन के सिरके के नुकसान (jamun sirka ke fayde aur nuksan)

जामुन के सिरके के फायदे और नुकसान (jamun sirka ke fayde aur nuksan ) दोनों हैं। इसलिए जामुन के सिरके के नुकसान जानने के बाद ही आप इसका सेवन करें।

  • अधिक मात्रा में जामुन का सिरका पीने से पेट खराब हो सकता है। इसलिए एक साथ अधिक मात्रा में जामुन का सिरकार ना पीएं।
  • खाने खाने के तुरंत बाद जामुन सिरका पीने से बचाएं। जामुन के सिरके को खाना खाने के कम से कम 1 घंटे बाद ही पीना उत्तम होता है।
  • सिरके के ऊपर से दूध या दही का सेवन करने से बचें।
  • अधिक जामुन का सिरका (Jamun ka sirka) पीने से बुखार की परेशानी हो सकती है।

जामुन खाने के नुकसान (jamun sirka ke nuksan) जानने के बाद आप इसका सिरका सोच समझ कर ही पीएं और अधिक मात्रा में सिरका पीने से बचें। साथ में ही जो महिला मां बनने वाली हैं वो भी जामुन के फल और सिरका का सेवन डॉक्टर से सलाह लेने के बाद

ये भी पढ़ें

मखाने के फायदे और नुकसान

खुबानी के फायदे और नुकसान

बेसन के फायदे और नुकसान

मुनक्का के फायदे और नुकसान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here