अलसी के फायदे और नुकसान व अलसी खाने का तरीका (alsi ke fayde aur nuksan in hindi)

0
98
अलसी खाने का तरीका, अलसी के फायदे और नुकसान, alsi ke beej ke fayde, अलसी का तेल, patanjali alsi oil in hindi, अलसी तेल के साइड इफेक्ट, अलसी का तेल पतंजलि Price ,patanjali alsi oil
अलसी खाने का तरीका, अलसी के फायदे और नुकसान, alsi ke beej ke fayde, अलसी का तेल, patanjali alsi oil in hindi, अलसी तेल के साइड इफेक्ट, अलसी का तेल पतंजलि Price ,patanjali alsi oil

अलसी का तेल बेहद ही गुणकारी होता है और इस तेल का प्रयोग कर कई समस्याओं को दूर किया जा सकता है। अलसी का तेल बनाने की विधि बेहद ही सरल है और इसे आप घर में आसानी से बना सकते हैं। हालांकि अलसी का तेल बनाने की विधि क्या है इसके बारे में कम ही लोगों को जानकारी है। इस लेख में हम आपको इसके तेल की विधि, अलसी के फायदे और नुकसान (alsi ke fayde aur nuksan in hindi) क्या है और अलसी खाने का तरीका (alsi khane ka tarika) बताने जा रहे हैं।

अलसी क्या होती है (alsi oil in hindi)

अलसी को अंग्रेजी भाषा में flaxseed कहा जाता है। ये देखने में सुनहरे पीले भूरे रंग की होती है। इसके बीज को पीसकर ही तेल निकाला जाता है।

अलसी के फायदे और नुकसान (alsi ke fayde aur nuksan in hindi)

अलसी क्या होती है। ये जानने के बाद आइए नजर डालते हैं अलसी के फायदे और नुकसान। अलसी के फायदे और नुकसान (alsi ke fayde aur nuksan in hindi) जानने के बाद आप बिना किसी डर से इस तेल का प्रयोग कर सकें। अलसी के फायदे इस प्रकार हैं-

अलसी के फायदे (alsi ke fayde)

अलसी के फायदे (alsi ke beej ke fayde) आंखों के संग जुड़े हुए हैं। आंखों से रोगों से निजात दिलाने के लिए आप इसका प्रयोग कर सकते हैं। आखों के लाल होने पर य दर्द होने पर आप अलसी के बीज ले लें। फिर इन बीजों को पानी में डाल दें और इस पानी को उबाल लें। पानी उबल जाने के बाद इसे छान लें। पानी को ठंडा कर लें और इससे आंखों को साफ करें। नियमित रूप से ऐसा करने से आंखों की इन समस्या से निजात मिल जाएगी।

शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द होने पर आप असली का लेप लगा लें। असली का लेप लगाने से दर्द से राहत मिल जाएगी। आप अलसी के बीजों (alsi ke beej ke fayde) को पीस लें। फिर इस लेप को दर्द वाले हिस्से पर लगा दें। इसे लगाने से दर्द भाग जाएगा। इसी तरह से आप चाहें तो दर्द वाले हिस्से पर अलसी का तेल गर्म करके भी लगा सकते हैं।

जुकाम को भागने में भी अलसी गुणकारी साबित होती है। असली के बीज को भून कर खाने से जुकाम सही हो जाता है और नाक खुल जाती है।

बालों के लिए अलसी का तेल लाभकारी होता है और इसे बालों पर लगाने से अनगिनत लाभ मिलते हैं। बालों के लिए असली के फायदों की बात की जाए तो इसे बालों पर लगानें से सफेद बाल काले हो जाते हैं। बाल गिरना बंद हो जाते हैं। बालों का विकास अच्छे से होता है। यानी अलसी का तेल बालों पर लगाने से आपको कई सारे लाभ मिलेंगे। इसलिए बालों से जुड़ी कोई भी समस्या होने पर आप अलसी का तेल का प्रयोग कर लें और इसे लगा लें।

ये भी पढ़े- दलिया खाने के फायदे और नुकसान (Daliya ke fayde Aur Nuksan In Hindi)

अलसी के नुकसान (alsi ke nuksan)

  • अलसी के नुकसान (alsi ke nuksan) भी कई हैं। अलसी का अधिक सेवन करने उल्टी की समस्या हो सकती है और मन खराब हो सकता है।
  • गर्भवती महिलाएं अलसी के तेल का प्रयोग न करें तो बेहतर है।
  • जो लोग रक्त पतला करने की दवा का सेवन कर रहे हैं, उनको अलसी के बीज व तेल का सेवन नहीं करना चाहिए

अलसी के तेल की तासीर (alsi ke taaser)

अलसी के तेल की तासीर (alsi ke taaser) कैसी होती है, इसके बारे में भी बेहद ही कम लोगों को जानकारी होती है। दरअसल अलसी के तेल की तासीर गर्म (alsi ke taaser) होती है। जिसकी वजह से इसका अधिक प्रयोग करने से आपको गर्मी हो सकती है। वहीं बालों पर इसे लागने से आपको चक्कर की समस्या भी आ सकती है। इसलिए ये बेहतर है कि आप सर्दी के दौरान ही इस तेल को अपने बालों पर लगाएं।

अलसी का तेल बनाने की विधि (alsi oil in hindi)

अलसी का तेल बनाने की विधि (alsi ka tel kaise banaye) बेहद ही सरल है। इस तेल को बनाने के लिए आपको अलसी के बीज की जरूर पड़ेगी। आप अच्छी खासी मात्रा में असली के तेल के बीज ले लें। इन्हें अच्छे से साफ कर लें। इसके बाद अलसी के तेल के बीजों को पीस लें और इसका तेल निकाल लें। अलसी के तेल को एक बोतल में भरकर रख दें और जब जरूरत हो इसका प्रयोग कर लें। अलसी का तेल आसानी से खराब नहीं होता है, इसलिए आप अच्छी खासी मात्रा में एक साथ तेल निकाल सकते हैं। तो ये थी असली का तेल बनाने की विधि (alsi ka tel kaise banaye)।

अगर आप खुद से अलसी का तेल नहीं निकलना चाहते हैं तो इसे बाजार से खरीद सकते हैं। अलसी का तेल पतंजलि कंपनी द्वारा बेचा जाता है। इसलिए आपको आसानी से पतंजलि का असली का तेल (patanjali alsi oil in hindi) मिल जाएगा। पंतजिल के असली के तेल  (patanjali alsi oil Price) की (250 मिली) की बोतल आपको 275 रुपए की मिल जाएगी।

अलसी खाने का तरीका (alsi khane ka tarika)

अलसी का सेवन कई तरह से किया जा सकता है। कई लोग असली के बीजों का पानी पीते हैं तो कई लोग इसके तेल का सेवन करते हैं। अलसी खाने का तरीका (alsi khane ka tarika) क्या है ये हम आपको विस्तार में बताने जा रहे हैं।

  • कई  लोग अलसी के लड्डू खाते हैं, इसलिए आप अलसी के लड्डू बनाकर खा सकते हैं। अलसी के लड्डू बनाने बेहद ही आसान है
  • अलसी के बीजों को पीसकर इसका पाउडर तैयार कर लें और इसे नमक में मिला लें। फिर इसे आप सलाद व इत्यादि चीजों पर छीड़कर खा सकते हैं। अलसी खाने का तरीका ये बेहद आसान है।
  • अलसी के बीजों को भूनकर भी आप खा सकते हैं। तो ये थे कुछ अलसी खाने के तरीकों (alsi khane ka tarika) की जानकारी।

हम उम्मीद करते हैं कि इस लेख के माध्यम से आपको अलसी क्या होती है, अलसी के फायदे और नुकसान (alsi ke fayde aur nuksan in hindi), अलसी का तेल बनाने की विधि और अलसी खाने का तरीके (alsi khane ka tarika) के बारे में विस्तार से जानकारी मिल गई होगी।

ये भी पढ़ें- Jaiphal tel banane ki vidhi जायफल का तेल बनाने की विधि

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here