पेट की जलन के घरेलू उपाय (Pet Me Jalan Le Liye Gharelu Upay)

0
17
pet me jalan door karne ke upayee, pet ki jalan ke liye gharelu upay
pet me jalan door karne ke upayee, pet ki jalan ke liye gharelu upay

पेट की जलन होने के कारण, लक्षण व जलन दूर करने के घरेलू उपाय (Pet Me Jalan Le Liye Gharelu Upay)

कई लोगों को पेट में जलन होने (pet me jalan Hona) की शिकयत हो जाती है। पेट में जलन होने के कारण (pet me jalan ke karan) मन भी खराब हो जाता है और कुछ भी खाने का मन नहीं करता है। पेट में जलन होने के कई कारण होते हैं (pet me jalan ke karan) और बार-बार पेट में जलन (pet me jalan) होने पर इसे नजर अंदाज ना करें और इसका उपचार करें। वहीं पेट में जलन (pet me jalan) क्यों होती है और पेट की जलन दूर करने के उपाय (pet me jalan door karne ke upayee) क्या है,  इसके बारे में हम आपको विस्तार से बताने जा रहे हैं। ताकि अगर आपको पेट में जलन (pet me jalan) की शिकायत हो तो आप इसका इलाज कर सकें और इस जलन से निजात पा सकें।

एसिडिटी होने का कारण क्या है? (pet me acid banne ke lakshan)

पेट में जलन होने (pet me jalan Hona) की बीमारी को अंग्रेजी भाषा में एसिडिट कहा जाता है। एसिडिटी होने के कई कारण होते (pet me jalan ke karan) हैं। मुख्य रुप से पेट में जलन का कारण (pet me jalan ke karan) अधिक तला हुआ और मसाले वाला भोजन का सेवन करना होता है। दरअसल कई लोगों को मसाले वाला खाना पसंद होता है और ये भोजन करने से पेट में जलन (pet me jalan) की शिकायत हो जाती है। इसके अलावा अधिक खट्टी चीजें खाने से भी पेट में जलन (pet me jalan) हो जाती है। इसलिए आपको पेट में जलन (pet me jalan) ना हो इसलिए आप तला हुआ, मसाले दार व खट्टे भोजन का सेवन करने से बचें।

वैसे तो पेट में जलन होना (pet me jalan Hona) आम बात होती है और किसी को भी पेट में जलन (pet me jalan) हो जाती है। लेकिन जिन लोगों को बार-बार अधिक देर तक पेट में जलन (pet me jalan) की होती है। वो लोग इसे हल्के में लेने की भूल ना करें। पेट में जलन होने पर इसका उपचार करें। पेट की जलन को घरेलू उपायों (pet ki jalan ke liye gharelu upay) की मदद से दूर किया जा सकता है। तो आइए जानते हैं पेट की जलन दूर करने घरेलू उपाय (pet me jalan door karne ke upayee)

पेट की जलन के घरेलू उपाय (pet ki jalan ke liye gharelu upay)

करें केले का सेवन

पेट में जलन (pet me jalan) होना साधारण बीमारी होती है और इस जलन को केला खाकर सही किया जा सकता है। जलन होते ही आप एक केला खा लें। आपकी जलन छूमंतर हो जाएगी।

पीएं ठंडा पानी

ठंडा पानी पीने से पेट को आसान मिलता है और पेट की जलन गयाब हो जाती है। जलन होने पर आप ठंडे पानी को बस पीने का काम कर लें। पांच मिनट में पेट की जलन भाग जाएगी।

पुदीना खाएं

पेट में जलन दूर करने के उपाय (pet me jalan door karne ke upayee) अनगिनत है और जलन होने पर आप पुदीने का सेवन भी कर सकते है। पुदीने के पत्तों का खाने से जलन दूर हो जाएगी। आप चाहें तो पुदीन के पत्तों की पीसकर, इन्हें ठंडे पानी में भी डालकर ले सकते हैं।

करें गुड़ का सेवन 

गुड़ एक ऐसी चीज है जो कि हर रसोई में मिलती है। पेट में जलन दूर करने के उपाय में गुड़ भी आता है। जलन होते ही आप गुड़ खा लें, आपको फौरन से आराम मिल जाएगा और जलन होना बंद हो जाएगी।

दही खाएँ

पेट की जलन की दवा भी बाजार (pet ki jalan ki dawa) में उपल्बध है, लेकिन आप पहले पेट की जलन दूर करने के घेरलू उपायों (pet ki jalan ke liye gharelu upay hindi) को अपनाएं। क्योंकि इन उपायों से आसानी से पेट की जलन (pet me jalan) खत्म हो जाती है। पेट में जलन होने पर आप दही आधी कटोरी खा लें। आप चाहें तो इसमें चीनी भी मिला सकते हैं।

एलोवेरा जूस

एलोवेरा जूस पीने से भी एसिडिटी सही हो जाती है। एसिडिटी (Acidity) होने पर आधा गिलास एलोवेरा का जूस पी लें और आराम प्रदान हो जाएगा।

ठंडा दूध

एसिडिटी (Acidity) होने पर ठंडी चीजों का सेवन करना चाहिए इसलिए आप एसिडिटी होते ही ठंडा दूध पी लें। आप चाहें तो इस दूध के अंदर इलाइची भी डाल सकते हैं।

पेट में जलन होने पर ना करें इन चीजों का सेवन (Acidity In Hindi)

तो ये थे पेट की जलन को दूर करने के घरेलू उपाए (pet me jalan door karne ke upayee)। पेट की जलन दूर करने के उपाय (pet ki jalan ke liye gharelu upay hindi) पढ़ने के बाद अब जानते हैं कि आखिर एसिडिटी (Acidity) होने पर किन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए।

-एसिडिटी (Acidity) होने पर अचार ना खाएं (Acidity In Hindi)

– घी का सेवन करने बचें

– एसिडिटी होने पर चटपटा खाना नहीं खाना चाहिए।

– चाय का सेवन करने से एसिडिटी की समस्या और बढ़ सकती है। इसलिए एसिडिटी होने पर चाय ना पीएं। इतना ही नहीं कई बार एसिडिटी (Acidity) होने के कारण चाय भी मानी जाती है।

– अदरक का सेवन करने से पेट की जलन बढ़ सकती हैं। इसलिए एसिडिटी (Acidity) होने पर अदरक को ना खाएं।

– कॉफी पीने से भी एसिडिटी (Acidity) से आराम नहीं मिलता है और परेशानी बढ़ जाती है।

गर्भावस्था में पेट में जलन होना (pet me jalan in pregnancy)

गर्भावस्था में पेट में जलन होना (pet me jalan in pregnancy) आम बात होती है और कई महिला को पेट में जलन हो जाती है। गर्भावस्था में पेट में जलन होना (pet me jalan in pregnancy) होने पर आप दवाई का सेवन ना करें। केवल घरेलू उपाय () ही आजमाएं। आप दही, दूध या पुदीने के पत्ते खा लें। जलन सही हो जाएगी।

पेट में गैस और जलन

कई लोगों को एक साथ पेट में गैस () और जलन हो जाती है। पेट में गैस और जलन पर ठंडा पानी पीएं और तीखा खाने से बचें। साथ में ही रात को सोते समय सौंफ खाया करें। ऐसा करने से पेट में गैस () नहीं बनेगी और जलन भी दूर हो जाएगी।

पेट में जलन होने से जुड़ सवाल –

Q. 1 एसिडिटी या पेट में जलन होने पर क्या करें (pet me jalan ho to kya kare)?

Ans – एसिडिटा (Acidity) का इलाज करने के लिए आप खाना खाने के बाद ऊपर से ठंडा पानी पीया करें।

Q. 2 – एसिडिटी का कारण क्या है ()?

Ans – एसिडिट के कारण (pet me jalan ke karan) कई सारे हैं, कई लोगों को तीखा खाना खाने से, जबकि कई लोगों को तला हुआ खाना खाने से ये समस्या हो जाती है। इसके अलावा एसिडिटी के कारण (pet me jalan ke karan) और भी हैं जो कि ऊपर बताए गए हैं

Q. 3 – एसिडिटी में क्या खाना चाहिए?

Ans – एसिडिटी Acidity होने पर मीठा वो ठंडी चीजें अधिक खाया ।

Q. 4  पेट की एसिडिटी कैसे दूर करें?

Ans – एसिडिटी (Acidity) दूर करने का सबसे उत्तम इलाज पुदीना होता है। इसलिए आप एसिडिटी दूर (Acidity) करने के लिए पुदीना खाएं

Q. 5 सीने में जलन क्यों होती है?

कई बार लोगों को पेट में जलन (pet me jalan) होने के अलावा सीने में भी जलन हो जाती है। सीने में जलन होने के कारण , पेट में जलन होने के कारणों से ही मिलते जुलते हैं। इसलिए आप पेट में जलन होने के घरेलू उपायों (pet me jalan door karne ke upayee) को अपनाकर सीने की जलन को भी दूर कर सकते हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here