कल मनाई जाएगी कन्या संक्रांति, जानें इसका महत्व (Sankranti September 2021)

0
298
kanya sankranti 2021 Muhurat, Kab Hai Kanya Sankranti 2021 , संक्रांति सितंबर महीने
kanya sankranti 2021 Muhurat, Kab Hai Kanya Sankranti 2021 , संक्रांति सितंबर महीने

संक्रांति पर्व हर साल आता है। ये पर्व सूर्य देवता को समर्पित। साल में कुल 12 संक्रांति आती हैं और इन्हें चार मुख्य श्रेणियों में विभाजित किया जाता है। जो कि अयन, विशुवा, विष्णुपदी और षडतिमुखी संक्रांति है। सभी 12 संक्रांति में से, ‘मकर संक्रांति’ सबसे बड़ी मानी जाती है और इसे धूमधाम से मनाया जाता है। वहीं सितंबर महीने 2021 (Sankranti September 2021) में आने वाली संक्रांति को कन्या संक्रांति (Kanya Sankranti 2021) के नाम से जाना जाता है।

दरअसल सितंबर महीने में सूर्य देव कन्या में प्रेवश करते हैं। इसलिए इस दिन को कन्या संक्रांति (Kanya Sankranti 2021) कहा जाता है। सितंबर महीने 2021 में कन्या संक्रांति कब (Kab Hai Kanya Sankranti 2021) आ रही है। इसके बारे में अधिक लोगों को जानकारी नहीं है। कन्या संक्रांति इस महीने की 17 तारीख यानी रविवार के दिन आ रही है।

सितंबर महीने 2021 की संक्राति से जुड़ी जानकारी – (kanya sankranti 2021 Muhurat)

तिथि : एकादशी 08:08 तक

नक्षत्र: श्रवण 27:28 . तक

वार: शुक्रवार

सूर्योदय: 06:10

सूर्यास्त: 18:19

चंद्रोदय: 16:25

चंद्रास्त: 02:06

कन्या संक्रांति के दिन करें ये काम (kanya sankranti significance)

17 सिंतबर को कन्या संक्रांति का पर्व है। इस दिन आप दान जरूर करें। मान्यता है कि संक्रांति के दिन दान करने से पापों से मुक्ति मिल जाती है। इसके अलावा इस संक्रांति के दिन पित्रों की पूजा भी की जाती है। पूजा करने से उन्हें शांति मिलती है। कन्या संक्रांति के दिन आप सुबह जल्दी उठें। उसके बाद शुद्ध पानी से नहा लें। साफ वस्त्र धारण कर पूजा करें। फिर दान का काम करें। हालांकि आप इस बात का ध्यान रखें की कन्या संक्रांति के दिन काले रंग के कपड़े न पहनें। संक्रांति के दिन इस रंग के कपड़े पहनना शुभ नहीं माना जाता है।

विश्वकर्मा पूजन 2021 (vishwakarma puja 2021)

कन्या संक्रांति के दिन विश्वकर्मा पूजन (vishwakarma puja) भी किया जाता है। उड़ीसा, बिहार और बंगाल में विश्वकर्मा पूजन किया जाती है जो कि देव विश्वकर्मा से जुड़ी होती है। मान्यता है कि देव विश्वकर्मा भगवान द्वारा ही देवों के महल, शस्त्र व मंदिर का निर्माण किया गया था। यहां तक की द्वारका नगरी भी विश्वकर्मा द्वारा बनाई गई थी।

कैसे करें विश्वकर्मा पूजा (vishwakarma puja 2021)

  • विश्वकर्मा के दिन स्नान करें और पूजा स्थान को भी साफ कर लें। फिर पूजा स्थान पर विश्वकर्मा भगवान की प्रतिमा रखें।
  • एक दीपक जला दें और हाथ में पुष्म व अक्षत लेकर पूजा करें। फिर भगवान को भोग लगाएं और उनकी विधिपूर्वक आरती करें।

तो ये भी कन्या संक्रांति (Kab Hai Kanya Sankranti 2021) और विश्वकर्मा पूजा से जुड़ी जानकारी।

ये भी पढ़ें- उत्पन्ना एकादशी व्रत करने से मिलता है मोक्ष, जानिए इस व्रत का समय, तारीख और नियम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here